iPhone पर पेगासस स्पायवेयर जैसे अटैक का अलर्ट

iPhone पर पेगासस स्पायवेयर जैसे अटैक का अलर्ट

एपल ने iPhone पर पैगासस जैसे स्पायवेयर अटैक का खतरा जताया है। एपल के अनुसार, आईफोन यूजर्स को 'मर्सनरी स्पायवेयर' के जरिए टारगेट किया जा रहा है। इसके जरिए iPhone को एक्सेस करने की कोशिश की जा रही है।

images (4)

इसे लेकर एपल ने बुधवार को भारत सहित उन 98 देशों के अपने यूजर्स को वॉर्निंग मेल भेजा है, जो 'मर्सनरी स्पायवेयर' अटैक के संभावित शिकार हो सकते हैं। यह स्पायवेयर इजराइल के NSO ग्रुप के पेगासस की तरह है। इसका मकसद डिवाइस को हैक करना और अनऑथराइज्ड एक्सेस हासिल करना है।

मर्सनरी स्पायवेयर अटैकर्स बहुत कम संख्या में कुछ खास लोगों और उनके डिवाइसेज को टारेगट करने के लिए बहुत अधिक संसाधनों का इस्तेमाल करते हैं। इन स्पाइवेयर अटैक्स की कॉस्ट लाखों डॉलर होती है। उनका पता लगाना और रोकना बहुत कठिन होता है।

स्पायवेयर अटैक को लेकर एपल ने अपने यूजर्स को इस साल दूसरा अलर्ट भेजा है। इससे पहले 11 अप्रैल 2024 को कंपनी ने भारत सहित 92 देशों के आईफोन यूजर्स को इसी तरह का अलर्ट भेजा था।

पिछले साल अक्टूबर में एपल ने भारत सहित कई देशों में 'स्टेट स्पॉन्सर्ड' अटैक का नोटिफिकेशन भेजा था। भारत में वह थ्रेट नोटिफिकेशन TMC नेता महुआ मोइत्रा, कांग्रेस नेता शशि थरूर समेत विपक्षी दलों के कई लीडर्स और कुछ जर्नलिस्ट को भेजा गया था।

एपल ने थ्रेट नोटिफिकेशन में लिखा था - एपल को लगता ​​​​है कि आपको स्टेट स्पॉन्सर्ड अटैकर्स निशाना बनाने की कोशिश कर रहे हैं। आपकी एपल ID से जुड़े आईफोन को रिमोटली कॉम्प्रोमाइज करने यानी हैक करने की कोशिश की जा रही है।

 

यदि आपका डिवाइस किसी स्टेट-स्पॉन्सर्ड अटैक से कॉम्प्रोमाइज हुआ है, तो वो आपका सेंसिटिव डेटा, कम्युनिकेशन और कैमरा और माइक्रोफोन तक एक्सेस कर सकते हैं। यह संभव है कि यह एक फॉल्स अलार्म हो, लेकिन इस चेतावनी को गंभीरता से लें।" हालांकि सरकार ने फोन हैकिंग के आरोपों को खारिज किया था।

एपल की वेबसाइट के अनुसार, थ्रेट नोटिफिकेशन उन यूजर्स को इन्फॉर्म और असिस्ट करने के लिए डिजाइन किया गया है, जिन्हें स्टेट-स्पॉन्सर्ड अटैकर्स की ओर से टारगेट करने की कोशिश की गई हो। इस नोटिफिकेशन में लॉकडाउन मोड इनेबल करने समेत फोन को सिक्योर करने के लिए क्या कदम उठाए जा सकते हैं इसकी भी जानकारी दी जाती है।

लॉकडाउन मोड डिवाइसेज को एक्सट्रीमली रेयर और हाइली सोफेस्टिकेटेड साइबर अटैक्स से बचाने में मदद करता है। जब लॉकडाउन मोड इनेबल होता है, तो आपका डिवाइस उस तरह काम नहीं करेगा जैसा वह आमतौर पर करता है। अटैक को रोकने के लिए कुछ ऐप्स, वेबसाइट और फिचर्स को लिमिटेड कर दिया जाता है।

Advertisement

Latest News