2024 में AI में होंगे ये बदलाव, ऐसे बदलेगी आपकी जिंदगी

2024 में AI में होंगे ये बदलाव, ऐसे बदलेगी आपकी जिंदगी

AI changes in 2024

AI changes in 2024

2023 में AI का बोलबाला रहा। पहले Chat GPT और फिर Bard जैसे AI प्लेटफॉर्म चर्चा में रहे है। AI के आने के बाद कई प्रोफेशनल्स को लगा कि उनकी जॉब को खतरा होगा। AI ने लोगों के काम को आसान करने का काम किया है। 2023 के बाद 2024 में एआई में ऐसे बदलाव होने वाले है, जो आपकी जिंदगी को पूरी तरह से बदल देंगे।

Read also: Narnaul Weather: सीजन का पहला पाला गिरा; न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस पहुंचा

क्या है वो बदलाव-

  1. जेनरेटिव एआई- जेनरेटिव एआई (जेन-एआई) एक प्रकार का कृत्रिम बुद्धिमत्ता है जो नए डेटा को उत्पन्न करने में सक्षम है।
  2. ओपन सोर्स एआई-मॉडल- ओपन सोर्स एआई एक ऐसी तकनीक है जो दुनिया भर के लोगों को एक साथ काम करके एआई मॉडल विकसित करने कअनुमति देती है। ये मॉडल हजारों दिमागों के योगदान से मिलकर बनते हैं, जिससे वे बहुत शक्तिशाली और कुशल होते है।
  3. एआई रिस्क हलूसिनेशन पॉलिसी- जब जनरेटिव एआई गलत आउटपुट उत्पन्न करता है, तो इसे हलुसिनेशन कहा जाता है. हलुसिनेशन के कई संभावित कारण हो सकते है, जैसे कि गलत डेटा से प्रशिक्षित एआई मॉडल, या एआई मॉडल में गड़बड़ी। हलुसिनेशन से कई तरह की समस्याएं हो सकती है।
  4. एआई आधारित पर्सनलाइज्ड एप्स- एआई आधारित पर्सनलाइज्ड एप्स एक ऐसी तकनीक है। जो एआई का उपयोग करके यूजर्स के लिए एक व्यक्तिगत अनुभव प्रदान करती है। इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के एप्स में किया जा सकता है, जैसे कि समाचार, सोशल मीडिया, और ई-कॉमर्स। गार्टनर के अनुसार, 2026 तक, हर 3 में से 1 ऐप एआई का उपयोग करेगा ताकि पर्सनलाइज्ड यूजर इंटरफेस दिया जा सके।
  5. एआई की मदद से कोडिंग- 2023 में एआई कोडिंग टूल्स का इस्तेमाल कम हुआ है। इसका कारण यह है कि इन टूल्स को अभी भी विकसित किया जा रहा है। और वे अभी भी शुरुआती चरण में है। हालांकि, गार्टनर की रिपोर्ट के अनुसार, 2028 तक, 75% इंजीनियर एआई टूल्स (जैसे की, डीप कोड, टैब नाइन) की मदद से कोड लिखेंगे।

AI changes in 2024

About The Author

Related Posts

Advertisement

Latest News