पंजाब सरकार अब हवाई जहाज से बुजुर्गों को कराएंगे तीर्थ यात्रा

पंजाब सरकार अब हवाई जहाज से बुजुर्गों को कराएंगे तीर्थ यात्रा

चंडीगढ़। पंजाब की तीर्थ यात्रा योजना (Pilgrimage plan) को लेकर एक नई डेवलपमेंट सामने आ रही है। केंद्र सरकार की ओर से जनरेटरों की कमी का कारण बताकर दूरदर्राज के तीर्थ स्थलों को जाने के लिए रेलगाड़ियां मुहैया करवाने में असमर्थता दिखाने के बाद अब पंजाब सरकार ने हेलीकॉप्टर और पैसेजेंटर एयरक्राफ्ट के जरिए बुजुर्गों […]

चंडीगढ़। पंजाब की तीर्थ यात्रा योजना (Pilgrimage plan) को लेकर एक नई डेवलपमेंट सामने आ रही है। केंद्र सरकार की ओर से जनरेटरों की कमी का कारण बताकर दूरदर्राज के तीर्थ स्थलों को जाने के लिए रेलगाड़ियां मुहैया करवाने में असमर्थता दिखाने के बाद अब पंजाब सरकार ने हेलीकॉप्टर और पैसेजेंटर एयरक्राफ्ट के जरिए बुजुर्गों को तीर्थ स्थलों पर भेजने की योजना तैयार की है। 

केंद्र सरकार नहीं करने दी रही काम’ 

हालांकि अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की है। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बताया कि जल्द ही इस बारे में वह मीडियाकर्मियों के साथ योजना को साझा करेंगे।–

दरअसल, यह मामला बीते कल आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय काउंसिल की बैठक में सामने आया जब मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि राज्य सरकार को केंद्र सरकार काम करने नहीं दे रही हैं।

हवाई जहाज से तीर्थ यात्रा करवाएगी पंजाब सरकार

उनकी महत्वाकांक्षी योजनाओं को लागू करने में बाधाएं उत्पन्न कर रही है। इसी दौरान मुख्यमंत्री ने तीर्थ योजना (pilgrimage plan) के लिए रेलगाड़ियां मुहैया न करवाने के बारे में बैठक में बात रखी।

इस पर अरविंद केजरीवाल ने मुख्यमंत्री भगवंत मान से इसके लिए हवाई जहाज के जरिए लोगों को तीर्थ स्थलों पर भेजने पर विचार करने को कहा । पार्टी के एक सीनियर नेता ने इसकी पुष्टि की है और कहा है कि योजना फाइनल होते ही मुख्यमंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस करवाई जाएगी।

27 नवंबर को  शुरू हुई थी तीर्थ यात्रा

काबिले गौर है कि मुख्यमंत्री ने 27 नवंबर को श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाशोत्सव के अवसर पर तीर्थ यात्रा योजना (pilgrimage plan) की घोषणा की थी।

पहली ट्रेन अमृतसर से सचखंड श्री हजूर साहिब के लिए भेजी गई जबकि दूसरी रेलगाड़ी छह दिसंबर को जालंधर से वाराणसी और 15 दिसंबर को रेलगाड़ी मालेरकोटला से अजमेर शरीफ के लिए रवाना होनी थी, लेकिन इससे पहले ही रेल मंत्रालय ने रेलगाड़ियां देने में यह कहते हुए असमर्थता जताई कि उनके पास जनरेटरों की कमी है।

मान सरकार ने रेलवे को जमा कराई थी एडवांस राशि

हालांकि मुख्यमंत्री पहले ही कह चुके हैं कि इस योजना के लिए रेलवे को एडवांस में राशि जमा करवा दी गई है। उनका यह भी कहना था कि सरकार ने इस योजना को पूरा करने के लिए 40 करोड़ रुपए का बजट रखा हुआ है।

तीर्थ योजना के तहत हर सप्ताह एक रेलगाड़ी किसी न किसी तीर्थ पर जानी थी और पूरी योजना को लोकसभा चुनाव से पूर्व संपन्न करना था।

Also Read : पंजाब सरकार ने प्राईवेट थर्मल प्लांट ख़रीद कर इतिहास रचा : मुख्यमंत्री

Tags:

About The Author

Advertisement

Latest News

हरियाणा में बोगस वोटिंग पर 2 पूर्व CM आमने-सामने हरियाणा में बोगस वोटिंग पर 2 पूर्व CM आमने-सामने
हरियाणा में पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सिरसा और रोहतक में बोगस वोटिंग पर दिए बयान पर पूर्व CM भूपेंद्र...
जम्मू में बस 150 फीट गहरी खाई में गिरी
लोगों ने फैसला कर लिया है, सर्वे आ चुका है कि आप 13-0 से जीत रही है: भगवंत मान
पंजाब के लोग 1 जून को अमित शाह की धमकी का जवाब देंगे, भाजपा की जमानत जब्त कराएंगे - केजरीवाल
चंडीगढ़ में बोले अरविंद केजरीवाल - अच्छे दिन आने वाले हैं, मोदी जी जाने वाले हैं
T20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय अभियान शुरू, न्यूयॉर्क में ऐसा रहा पहला सेशन, 2 महीने बाद आए साथ
क्या था लाहौर घोषणापत्र, जिसके बाद पाक ने किया विश्वासघात, अब शरीफ ने कहा-हमारी गलती थी