Sonipat Weather: हवा चली तो छट गया कोहरा और प्रदूषण; शीतलहर से लोगों की बढ़ी मुश्किलें

Sonipat Weather: हवा चली तो छट गया कोहरा और प्रदूषण; शीतलहर से लोगों की बढ़ी मुश्किलें

Troubles increased due to cold wave

Troubles increased due to cold wave

कोहरे के कारण ट्रेनों की गति पर भी ब्रेक लगे है। देर रात तक दृश्यता सिमटकर 10 मीटर तक रह गई थी। हालांकि तड़के हवा चलने से कोहरे का असर कम होता चला गया। मौसम विशेषज्ञों ने बादल छाने और बूंदाबांदी के आसार जताए हैं। पहाड़ों पर बर्फबारी से मैदानी इलाके ठिठुर रहे हैं। सोनीपत में सोमवार देर शाम को ही कोहरे का असर गहराने लगा था। जिससे वाहन चालकों ने राहत की सांस ली है। हालांकि शीतलहर ने लोगों की मुसीबत बढ़ाई हुई है। हवा चलने से वायु गुणवत्ता सूचकांक में सुधार हुआ है। मंगलवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक 175 दर्ज किया गया, जबकि एक दिन पहले सोमवार को यह 268 था। मौसम विशेषज्ञों ने बादल छाने और बूंदाबांदी के आसार जताए हैं। दिल्ली एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। मंगलवार सुबह जिले में अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं दिन ढलने के साथ ही कोहरे का असर गहराने लगा था, जो देर रात तक घना होता चला गया। देर रात तक दृश्यता सिमटकर 10 मीटर तक रह गई थी। हालांकि तड़के हवा चलने से कोहरे का असर कम होता चला गया।

Read also: Divya Pahuja Murder केस में बड़ा खुलासा, मेघा तक कैसे पहुंची पुलिस?

ट्रेनों की गति पर लगे ब्रेक-
देर रात छाए घने कोहरे के कारण ट्रेनों की गति पर भी ब्रेक लगे है। खजुराहो से कुरुक्षेत्र तक चलने वाली गाड़ी संख्या 11841 गीता जयंती एक्सप्रेस जहां 15 घंटे की देरी से चल रही है, वहीं कटिहार से अमृतसर जाने वाली गाड़ी संख्या 15707 आम्रपाली एक्सप्रेस 9 घंटे 25 मिनट की देरी से चल रही है। इसके अलावा 12460 अमृतसर-नई दिल्ली इंटरसिटी एक्सप्रेस 2 घंटे 21 मिनट, 11078 झेलम एक्सप्रेस तीन घंटे की देरी से चली। लंबी दूरी की ट्रेनों के देरी से चलने के कारण सवारी गाड़ियां भी प्रभावित रही, जिससे यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ी।

Troubles increased due to cold wave

About The Author

Advertisement

Latest News