आगामी गणतंत्र दिवस से लोगों की सेवा के लिए समर्पित होगी सड़क सुरक्षा फोर्स: मुख्यमंत्री

आगामी गणतंत्र दिवस से लोगों की सेवा के लिए समर्पित होगी सड़क सुरक्षा फोर्स: मुख्यमंत्री

चंडीगढ़, 17 जनवरीः श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी के प्रकाश पर्व के शुभ दिवस पर पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने 461 नौजवानों को नियुक्ति पत्र सौंपे और लोगों को इन्साफ दिलाने के लिए दसमेश पिता के नक्शे कदम पर चलने का न्योता दिया। यहाँ म्यूंसिपल भवन में नियुक्ति पत्र देने के लिए करवाए […]

चंडीगढ़, 17 जनवरीः

श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी के प्रकाश पर्व के शुभ दिवस पर पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने 461 नौजवानों को नियुक्ति पत्र सौंपे और लोगों को इन्साफ दिलाने के लिए दसमेश पिता के नक्शे कदम पर चलने का न्योता दिया।

यहाँ म्यूंसिपल भवन में नियुक्ति पत्र देने के लिए करवाए समागम के दौरान संबोधन करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरू साहिब ने हमें ज़ुल्म, बेइन्साफ़ी और दमन के विरुद्ध लड़ने का उपदेश दिया था। उन्होंने कहा कि इस पवित्र दिवस पर हम सभी को अपनी ड्यूटी पूरी इमानदारी, लगन और लगन के साथ निभाने का प्रण लेना चाहिए। भगवंत सिंह मान ने कहा कि हमें श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी के दर्शाऐ मार्ग पर चलते हुये लोगों की सेवा उत्साह के साथ करनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह म्यूंसिपल भवन ऐसे कई समागमों का गवाह रहा है, जिसमें नौजवानों को अलग-अलग सरकारी विभागों में नौकरियाँ मिलीं हैं। उन्होंने कहा कि यह नौजवानों की भलाई यकीनी बनाएं और उनके लिए रोज़गार के नये रास्ता खोलने के लिए राज्य सरकार की वचनबद्धता को दर्शाता है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह उनके लिए बहुत ही मान और संतोष की बात है कि अब तक 40 हज़ार से अधिक नौजवानों को केवल योग्यता के आधार पर सरकारी नौकरियों के लिए चुना गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब यह नौजवान सरकार का अटूट अंग बन चुके हैं और अब उनको मिशनरी जज़बे के साथ लोगों की सेवा करनी चाहिए। भगवंत सिंह मान ने उम्मीद जताई कि नये भर्ती हुए नौजवान लोगों के लिए इन्साफ यकीनी बनाने के साथ-साथ अपनी कलम का प्रयोग समाज के जरूरतमंद और पिछड़े वर्गों की मदद के लिए करेंगे। उन्होंने कहा कि नये भर्ती हुए नौजवानों को अधिक से अधिक लोगों की भलाई यकीनी बनानी चाहिए जिससे समाज के हर वर्ग को इसका लाभ मिल सके।

मुख्यमंत्री ने बताया कि आगामी गणतंत्र दिवस के मौके पर सड़क सुरक्षा फोर्स लोगों की सेवा में समर्पित की जायेगी। उन्होंने कहा कि इस समय पर यह फोर्स कपूरथला में प्रशिक्षण ले रही है और राज्य में सड़क हादसों के कारण होने वाली मौतों की दर को घटाने के लिए और राज्य की सड़कों पर यातायात को सुचारू बनाने के लिए इस फोर्स की शुरुआत की जायेगी। भगवंत सिंह मान ने कहा कि अपनी किस्म की यह पहली विशेष फोर्स पंजाब में रोज़मर्रा के सड़क हादसों में व्यर्थ जा रही कीमती जानें बचाने के लिए अहम भूमिका निभाएगी और इस फोर्स को गलत ड्राइविंग को रोकने, वाहनों के यातायात को सुचारू बनाने और सड़क हादसों की जांच का काम सौंपा जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शुरुआती तौर पर अत्याधुनिक यंत्रों से लैस लगभग 130 वाहन हर 30 किलोमीटर के घेरे बाद सड़कों पर तैनात किये जाएंगे। उन्होंने बताया कि इन वाहनों में किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति को एमरजैंसी इलाज मुहैया करवाने के लिए पूरी मैडीकल किट भी होगी। भगवंत सिंह मान ने कहा कि लोगों को समय पर अपेक्षित डाक्टरी सहायता यकीनी बनाने के लिए फोर्स को ट्रौमा सैंटरों के साथ जोड़ा जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाबी जन्म से ही उद्यमी और नेता के गुणों के साथ भरपूर होते हैं, जिस कारण उन्होंने दुनिया भर में अपनी काबिलीयत का लोहा मनवाया है। उन्होंने कहा कि पंजाबियों की मेहनत और समर्पण बेमिसाल है, जिस कारण वह हर क्षेत्र में जीत हासिल करते हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पंजाबियों के इस जज़बे को राज्य को आगे ले जाने के लिए सही ढंग के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब के नौजवानों को रोज़गार के मौके प्रदान करने के लिए राज्य सरकार की तरफ से पंजाब पुलिस में कांस्टेबल से लेकर सब- इंस्पेक्टर तक के अलग-अलग पदों के लिए नियमित भर्ती मुहिम चलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि हाल ही में इन्वेस्टिगेशन काडर में नये भर्ती किये गए 200 सिवलीयन स्पोर्ट स्टाफ को नियुक्ति पत्र दिए गए हैं, जिनमें कानूनी अफ़सर, सहायक कानूनी अफ़सर, वित्तीय अफ़सर, सहायक वित्तीय अफ़सर और फोरेंसिक अफ़सर शामिल हैं। भगवंत सिंह मान ने बताया कि इसके इलावा पंजाब पुलिस अकैडमी फिल्लौर में तफ़तीशी काडर के लिए पहली बार पंजाब ब्यूरो आफ इन्वेस्टिगेशन विंग में 245 नये सब- इंस्पेक्टर भी भर्ती किये गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज इन्वेस्टिगेशन कैडर में नये भर्ती हुए हवलदारों को नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस के इतिहास में यह पहली बार है कि हवलदारों की सीधी भर्ती की जा रही है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पंजाब ब्यूरो आफ इन्वेस्टिगेशन ( पी. बी. ओ. आई.) विंग में हवलदारों की भर्ती के साथ जांच की गुणवत्ता में सुधार लाने में मदद मिलेगी और दोषियों को सजा दिलाने की दर में और विस्तार होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हवलदारों की भर्ती के साथ अलग-अलग तरह के अपराधों से निपटने के लिए पुलिस बल को बढ़ावा मिलेगा और गहराई से जांच करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इसके इलावा राज्य सरकार की तरफ से कांस्टेबल की 1746 पदों और सब- इंस्पेक्टर के 288 पदों के लिए सालाना भर्ती प्रक्रिया भी जारी है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि भविष्य में भी राज्य सरकार पंजाब पुलिस में हर साल 1800 कांस्टेबल और 300 सब-इंस्पेक्टरों की भर्ती जारी रखेगी जिससे हर नौजवान को इस प्रतिष्ठित पुलिस फोर्स का हिस्सा बनने का मौका मिल सके।

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि राज्य सरकार विद्यार्थियों को मुकाबले की परीक्षाओं के लिए प्रशिक्षण देने के लिए आठ हाई- टेक सैंटर खोल रही है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह सैंटर नौजवानों को यू. पी. एस. सी. की परीक्षा के पास करने और राज्य और देश में नामवर पदों पर बैठने के लिए मानक प्रशिक्षण प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य नौजवानों को उच्च पदों पर बिठा कर देश की सेवा में लगाना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बड़े मान और संतोष की बात है कि पंजाब पुलिस राज्य के तीन करोड़ से अधिक लोगों की चैन की नींद यकीनी बनाने के लिए दिन- रात ड्यूटी निभा रही है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि जबसे उन्होंने पद संभाला है, उनकी सरकार पुलिस फोर्स के नवीनीकरण पर ध्यान केन्द्रित कर रही है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पुलिस फोर्स के वैज्ञानिक राह पर आधुनिकीकरण पर ध्यान दिया जा रहा है और पुलिस प्रणाली में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को भी लाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब पुलिस ने अमन-कानून को कायम रखने के अपने मुख्य फर्ज को निभाने के इलावा देश और इसके लोगों के हितों की हमेशा रक्षा की है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि बदलते हालात में फोर्स के लिए चुनौतियां कई गुणा बढ़ गई हैं, जिस कारण इनका प्रभावशाली ढंग से मुकाबला करने के लिए आधुनिकीकरण समय की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने यह यकीनी बनाया है कि पुलिस से राजनैतिक दबाव दूर किया जाये जिससे वह अपनी ड्यूटी कुशलता से निभा सकें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह दिन गए जब राजनैतिक बदलाखोरी के कारण बेकसूर लोगों पर झूठे पर्चे किये जाते थे। उन्होंने कहा कि पुलिस अब लोगों को इन्साफ दिलाने के लिए अपनी ड्यूटी निष्पक्ष और पारदर्शी ढंग से निभा रही है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने पुलिस को रिमोट और कंप्यूटर के तौर पर बरतने की बजाय यह यंत्र कुशलता बढ़ाने के लिए पुलिस के हाथों में दिए हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि चाहे सरहद पार से तस्करी, नार्काे आतंकवाद, गैंगस्टरों के रूप में संगठित अपराध समेत अन्य कई चुनौतियां हैं परन्तु पंजाब पुलिस इनका बहादुरी से सामना करने के समर्थ है।

Tags:

About The Author

Advertisement

Latest News